अपने बैंक और अन्य महत्वपूर्ण डीटेल्स की सुरक्षा के लिए इन सरल लेकिन महत्वपूर्ण स्टेप्स का पालन करें।

सबसे पहले और सबसे महत्वपूर्ण यह सुनिश्चित करना है कि फोन खो जाने पर फोन नंबर का दुरुपयोग न हो। सिम कार्ड को ब्लॉक करने का मतलब फोन पर हर उस ऐप को ब्लॉक करना है जिसे OTP के जरिए एक्सेस किया जा सकता है।

अपने सिम कार्ड को ब्लॉक कर दें

आपका सिम कार्ड और मोबाइल ऐप साथ-साथ चलते हैं, क्योंकि रजिस्टर्ड नंबर पर OTP के बिना कोई भी ट्रांसफर नहीं हो सकता है। मगर जैसे ही फोन खो जाता है या चोरी हो जाता है तो दोनों को ब्लॉक कर देना चाहिए।

मोबाइल बैंकिंग सर्विसेज को बंद करवा दें

एक बार जब ऑनलाइन बैंकिंग सेवाओं तक पहुंच से आप फोन चोर को वंचित कर देते हैं तो चोर अन्य सुविधा जैसे UPI भुगतान के साथ खिलवाड़ करने की कोशिश कर सकता है। इसलिए इस पर भी तुरंत ध्यान देने की आवश्यकता है। इसे जल्द से जल्द निष्क्रिय कर दें। 

UPI पेमेंट को डीएक्टिवेट करें

यदि आपका फोन गलत हाथों में पहुंच जाता है तो Google Pay और Paytm जैसे मोबाइल वॉलेट महंगे साबित हो सकते हैं। संबंधित ऐप के हेल्प डेस्क से संपर्क करें और सुनिश्चित करें कि जब तक आप किसी नए डिवाइस पर वॉलेट फिर से सेट नहीं करते हैं, तब तक किसी को एक्सेस नहीं दिया जाए।

सभी मोबाइल वॉलेट्स को ब्लॉक कर दें

एक बार जब आप ऊपर दिए गए सभी स्टेप्स को फॉलो कर लेते हैं तो अधिकारियो को भी आपके चोरी हुए डिवाइस के बारे में रिपोर्ट करना जरूरी होता है। आप नजदीकी पुलिस स्टेशन में फोन चोरी की रिपोर्ट दर्ज करवा सकते हैं और एफआईआर की एक कॉपी भी उनसे ले लें। 

पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करवाएं

अगर आपका फोन खो जाता है तो इस स्थिति में आप ऊपर दिए गए तरीकों से अपने फोन या उसके डेटा का गलत इस्तेमाल होने से रोक सकते हैं। अगर आपको ऐसी ही और भी जानकारी चाहिए तो हमारी वेबसाइट को जरूर सब्सक्राइब करे।